Adhunik Bharat Ka Itihas: Ek Navin Mulyankan, 36e

By
Special Price ₹479.20 Regular Price ₹599.00
In stock
ISBN 9789352832347
Binding: Paperback
Language: Hindi
Imprint: S. Chand Publishing
No. of Pages: 640
Trim Size: 6.75" X 9.5"
यह आधुनिक भारत के इतिहास की अत्यन्त लोकप्रिय एवं सबसे अधिक बिकने वाली पुस्तकों में से एक है। इसमें आधुनिक भारत के इतिहास (1707 ई. से आधुनिक काल तक) के विभिन्न पहलुओं की विस्तार से विवेचना की गयी है। इस पुस्तक में न केवल तथ्यात्मक आँकड़ों का समावेश है अपितु इसमें विभिन्न विषयों पर पाश्चात्य एवं भारतीय इतिहासकारों की व्याख्या दी गयी है। यह पुस्तक इतिहास के स्नातक स्तर के विद्यार्थियों के लिए उपयोगी है साथ ही विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित हो रहे अभ्यर्थी भी इससे लाभान्वित होंगे।
यह आधुनिक भारत के इतिहास की अत्यन्त लोकप्रिय एवं सबसे अधिक बिकने वाली पुस्तकों में से एक है। इसमें आधुनिक भारत के इतिहास (1707 ई. से आधुनिक काल तक) के विभिन्न पहलुओं की विस्तार से विवेचना की गयी है। इस पुस्तक में न केवल तथ्यात्मक आँकड़ों का समावेश है अपितु इसमें विभिन्न विषयों पर पाश्चात्य एवं भारतीय इतिहासकारों की व्याख्या दी गयी है। यह पुस्तक इतिहास के स्नातक स्तर के विद्यार्थियों के लिए उपयोगी है साथ ही विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित हो रहे अभ्यर्थी भी इससे लाभान्वित होंगे।
1. मुग़ल साम्राज्य का पतन और विघटन, 2. प्रारम्भिक पेशवाओं की उपलब्धियां, 3. पेशवाओं के अधीन मराठा प्रशासन, 4. कर्नाटक में एंग्लो-फ्रेंच प्रतिस्पर्धा, 5. बंगाल में अंग्रेज़ी शक्ति का उदय, 6. डूप्ले का जीवन तथा उपलब्धियां, 7. क्लाइव की दूसरी सूबेदारी, 1765-67, 8. वॉरेन हेसि्ंटग्ज़ 1772-85, 9. कॉर्नवालिस के प्रशासकीय सुधार 1786-93, 10. लार्ड वैल्ज़ली 1798-1805, 11. मैसूर का उत्थान-हैदरअली तथा टीपू सुल्तान, 12. लार्ड हेसि्ंटग्ज़ और भारत में अंग्रेज़ी सर्वश्रेष्ठता का स्थापित होना, 13. सर्वश्रेष्ठता के लिए आंग्ल-मराठा संघर्ष, 14. विलियम बैंटिंक, 1828-35, 15. सिन्ध का विलय, 16. रणजीत सिंह का जीवन और उपलब्धियां, 17. रणजीत सिंह के पश्चात पंजाब और आंग्ल-सिक्ख युद्ध, 18. लार्ड डलहौज़ी, 1848-56, 19. कृषि व्यवस्था में परिवर्तनः नवीन भू-धृति पद्धतियां तथा भू-राजस्व नीति, 20. कम्पनी के अधाीन प्रशासनिक नीतियों में परिवर्तन तथा उनका अंग्रेज़ी औपनिवेशिक हितों से सम्बन्ध, 21. जनजातीय तथा असैनिक विद्रोह, लोकप्रिय आन्दोलन तथा सैनिक विद्रोह, 1757 से 1856, 22. 1857 का विद्रोह, 23. 1858 से 1947 तक अंग्रेज़ी नीतियां तथा प्रशासनिक पुनर्गठन, 24. लिटन तथा रिपन के अधीन भारत, 25. लार्ड कजऱ्न, 26. आंग्ल-अप़फ़ग़ान सम्बन्ध, 27. उत्तरी-पश्चिमी सीमा, 28. भारतीय रियासतें, 29. भारत में शिक्षा की वृद्धि और विकास का इतिहास, 30. भारतीय समाचार पत्रें का इतिहास, 31. सांस्कृतिक जागरण, धार्मिक और सामाजिक सुधार, 32. आधुनिक भारत में निम्न जातीय आन्दोलन, 33. भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन का उत्थान और विकास, 34. भारत के अग्रगण्य राष्ट्रीय नेता, 35. भारत में वामपंथी आन्दोलन-साम्यवादी तथा कांग्रेस समाजवादी, 36. भारतीय औद्योगिक श्रमिक वर्ग का विकास तथा व्यापार संघ आन्दोलन, 37. किसानों के विद्रोह तथा कृषक आन्दोलन, 38. अकाल नीति का विकास, 39. भारत में स्थानीय स्वायत्त-शासन का विकास, 40. कम्पनी प्रशासन के अधीन संविधान का विकास, 41. भारत में प्रतिनिधि सरकार का विकास, 42. उत्तरदायी सरकार की ओर-I, 43. उत्तरदायी सरकार की ओर-II, 44. द्वितीय विश्व-युद्ध तथा भारत का स्वतन्त्रता की ओर बढ़ना, 45. साम्प्रदायिकता का उत्थान और भारत का विभाजन, 46. भारतीय गणतंत्र का संविधान, 47. औपनिवेशिक शासन के अधीन भारतीय अर्थव्यवस्था, 48. भारत में अंग्रेज़ी राज्य का प्रभाव तथा उसकी देन, 49. नेहरू युगः स्वतंत्रता युग का प्रथम चरण 1947-64, 50. आधुनिक भारत में साहित्यिक, कलात्मक तथा सांस्कृतिक गतिविधियां परिशिष्टः I. कार्ल मार्क्स की भारत में अंग्रेज़ी राज्य पर टिप्पणी, II. कार्ल मार्क्स अनुसार भारत में अंग्रेज़ी राज्य के होने वाले भविष्य में परिणाम, III. भारतीय विद्रोह पर कार्ल मार्क्स के विचर, IV. महत्त्वपूर्ण घटनाओं का घटनाक्रम, V. गवर्नर, गवर्नर-जनरल तथा राष्ट्रपति की सूची, VI. आधुनिक भारत में कौन क्या है?, VII. मिश्रित टिप्पणियं, VIII. युद्धों की विषय-परक जानकारी, IX. उत्तर कालीन मुगलों की वंशावली, X. भारतीय रियासतों में लोकतन्त्र आन्दोलन, XI. अंग्रेज़ी शासन की भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस भारतीय राष्ट्रवाद के प्रति अनुक्रिया, XII. सुभाष चन्द्र बोस और आज़ाद हिन्द फ़ौज, XIII. भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का संक्षिप्त सारसंग्रह, XIV. निजी क्षेत्र में अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों तथा अन्य पिछड़े वर्गों के लिए प्रस्तावित आरक्षण, XV. एम. ए. जिन्नाह और पाकिस्तान की स्थापना, XVI. राष्ट्रीय प्रतीक, XVII. श्रमेव जयते, मई दिवस 2007, XVIII. घरेलू हिंसा अधिनियम, 2005 के अन्तर्गत महिलाओं का बचाव, XIX. प्रधानमंत्री का अल्पसंख्यकों के लिए 15-सूत्रीय कार्यक्रम एवं इसकी उपलब्धियाँ, XX. परमाणु समझौते का 1-2-3, XXI. राज्य विधान सभा में सीटों का आवंटन, XXII. संसद में राज्यों को सीटों का आवंटन, XXIII. अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग/अल्पसंख्यक विभाग, XXIV. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा), 2005, XXV. सांसदों के वेतन एवं भत्तों में वृद्धि, XXVI. दिल्ली नगर निगम चुनाव-2017, XXVII. भारत में महिलाओं का सशक्तिकरण, XXVIII. भारत रत्न सम्मानित, XXIX. अल्पसंख्यक समुदायों का शैक्षणिक एवं सामाजिक-आर्थिक विकास
0
Rating:
0% of 100
Write Your Own Review
You're reviewing:Adhunik Bharat Ka Itihas: Ek Navin Mulyankan, 36e
Your Rating